Dosti Shayari

Dosti Shayari : Wo Dil Kya Jo Milne Ki Dua Na Kare

Dosti Shayari : Wo Dil Kya Jo Milne Ki Dua Na Kare

Dosti Shayari in Hindi
Dosti Shayari in Hindi
Wo Dil 💓 Kya Jo Milne Ki Dua Na Kare,
Tumhe Bhulkar Jiu Yah Khuda Na Kare,
Rahe Teri Dosti 👫 Meri Jindgani Bankar,
Yah Bat Aur Hain Jindagi Wafa Na Kare.
वो दिल 💓 क्या जो मिलने की दुआ न करे,
तुम्हें भुलकर जिऊ यह खुदा न करे,
रहे तेरी दोस्ती 👫 मेरी जिन्दगानी बनकर,
यह बात और है जिन्दगी वफा न करे।
हाँ थोड़ा थक गया हूँ दूर निकलना छोड दिया,
पर ऐसा नही की मैंने चलना छोड़ दिया।
फासले अक्सर रिश्तो में दूरी बढ़ा देते है,
पर ये नही की मैंने दोस्तों से मिलना छोड दिया।
हां जरा अकेला 🙎 हूँ दुनिया की भीड मे,
पर ऐसा नही है कि मैंने दोस्ताना छोड दिया।
याद तुम्हें करता हूं दोस्तों और परवाह भी,
बस कितनी करता हूं ये बताना छोड़ दिया।।
दोस्त को दोस्त का इशारा याद 👧 रहता है,
हर दोस्त को अपना दोस्ताना याद रहता है,
कुछ पल सच्चे दोस्त के साथ तो गुजारो,
वो अफ़साना मौत तक याद रहता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please Disable Adblock And Support Us.